Author(s): डा अर्चना सेठी

Email(s): Email ID Not Available

DOI: Not Available

Address: डा अर्चना सेठी
सहायक प्राध्यापकए अर्थशास्त्र अध्ययनशालाए पं रविशंकर शुक्ल वि विए रायपुर
*Corresponding Author

Published In:   Volume - 5,      Issue - 1,     Year - 2017


ABSTRACT:
धमतरी जिला छत्तीसगढ राज्य के उत्तरी पूर्वी सीमा पर रायपुर से 78 कि मी दूर 4081ण्93 कि मी में विस्तृत है। जिले में आदिवासी जनसंख्या 207633 है जो जिले की जनसंख्या का 25ण्96 प्रतिशत है। जिले में 4 तहसील धमतरी नगरीय कुरुद मगरलोड है।नगरीय विकासखंड में 179505 कुल जनसंख्या है। जनजाति जनसंख्या 110099 है जो जिले की जनजाति जनसंख्या का 53ण्01 प्रतिशत है। प्रस्तुत अघ्ययन का उददेश्य कमार जनजाति की सामाजिक आर्थिक स्थ्तिि का अघ्ययन तथा उनकी आय एवं गरीबी का अघ्ययन करना एवं शैक्षणिक स्तर का आय स्तर पर प्रभाव ज्ञात करना है। प्रस्तुत अध्ययन प्राथमिक आंकडों पर आधारित है। समंकों के संकलन हेतु अनुसूची öारा जानकारी एकत्र की गई है। विकासखंड में कुल 1029 कमार परिवार है जिसकी कुल जनसंख्या 4173 है। जिसका 2ण्64 प्रतिशत अर्थात 110 कमार का चयन दैवनिदर्शन öारा किया गया रंगराजन समीति की रिपोर्ट 2014 के अनुसार ग्रामीण क्षेत्र में एक परिवार ;औसत 5 सदस्यद्ध 4760 रु मासिक या प्रति ब्यक्ति मासिक आय 972रु या प्रति ब्यक्ति प्रतिदिन आय 32ण्4रु को आधार माना गया है। इस अध्ययन में प्रति ब्यक्ति मासिक आय 972रु के आधार पर निदर्श परिवारों की 91ण्81 प्रतिशत परिवार गरीबी रेखा के नीचे है। शैक्षणिक स्तर के अनुसार आय स्तर में विभिन्नता है। उपभोग ब्यय विभिन्न मद में असमान है लारेंज वक्र असममित है तथा गिनी गुणांक सूचकांक 0ण्53 है। निदर्श कमारों की 58ण्18 प्रतिशत परिवार ऋणग्रस्त है। भारत सरकार द्धारा बैगा कमार बिरहोर पहाउी कोरवा अबूझमाडिया को विशेष पिछडी जनजाति का दर्जा दिया गया है। शासन जनजातियो के विकास के लिए जनजाति विकास अभिकरण का गठन शैक्षिक संस्थाओं का संचालन स्वरोजगार के लिए अनेक योजनाए क्रियान्वित कर रही है लेकिन विकास का लाभ कमार परिवारों को प्राप्त हो इसके लिए आवश्यक है कि योजनाओं का क्रियान्वयन ईमानदारी से हो तथा कमारों को भी जागरुक होना होगा इसके लिए शिक्षा एक महत्वपूर्ण माध्यम है।


Cite this article:
डा अर्चना सेठी. कमार जनजाति की आय एवं उपभोग प्रवृŸिा का अध्ययन ;धमतरी जिले के नगरीय विकासखंड के संदर्भ मेंद्ध. Int. J. Rev. and Res. Social Sci. 5(1): Jan.- Mar., 2017; Page 43-50 .


Recomonded Articles:

International Journal of Reviews and Research in Social Sciences (IJRRSS) is an international, peer-reviewed journal, correspondence in....... Read more >>>

RNI:                      
DOI:  

Popular Articles


Recent Articles




Tags