Author(s): पवित्रा

Email(s): Email ID Not Available

DOI: Not Available

Address: पवित्रा
पीएच॰ डी॰ श¨धार्थी, हिंदी विभाग, महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय, र¨हतक (हरियाणा)
*Corresponding Author

Published In:   Volume - 7,      Issue - 1,     Year - 2019


ABSTRACT:
भारत एक कृषि प्रधान देश है। यहाँ अधिकांश आबादी गाँव में निवास करती है अ©र गाँव के ल¨ग¨ं का मुख्य कार्य कृषि है। किसान पर हमारी अर्थव्यवस्था टिकी हुई है। फिर भी किसान¨ं क¨ उनकी फसल का उचित मूल्य नहीं मिल पाता। आदि काल से लेकर उŸार आधुनिक काल तक किसानपिसता आ रहा है। आज भी खेती सरकार की दृष्टि में न के बराबर है। जिसके कारण किसान कर्ज में डूब जाता है अ©र आत्महत्या करने क¨ मजबूर ह¨ जाता है। किसान कर्ज से ग्रस्त ह¨कर त्रासदी पूर्ण जीवन व्यतीत कर रहा है।


Cite this article:
पवित्रा. फाँस उपन्यास में कर्ज से ग्रस्त किसान जीवन की त्रासदी. Int. J. Rev. and Res. Social Sci. 2019; 7(1):263-266.


Recomonded Articles:

Author(s): प्रति कुशवाहा

DOI:         Access: Open Access Read More

Author(s): बी.एन. पटेल, उमेश कुमार मिश्र

DOI:         Access: Closed Access Read More

Author(s): किशोर कुमार अग्रवाल, राजेशवरी

DOI:         Access: Closed Access Read More

International Journal of Reviews and Research in Social Sciences (IJRRSS) is an international, peer-reviewed journal, correspondence in....... Read more >>>

RNI:                      
DOI:  

Popular Articles


Recent Articles




Tags