Author(s): महीप चैरसिया, प्रमोद कुमार तिवारी

Email(s): mahipchaurasia66@gmail.com , pktiwari61@gmail.com

DOI: Not Available

Address: महीप चैरसिया1, डाॅ. प्रमोद कुमार तिवारी2
1षोध छात्र (जे.आर.एफ.) भूगोल विभाग, नागरिक पी.जी. काॅलेज, जंघई, जौनपुर (उ0प्र0).
2प्राचार्य एवं विभागाध्यक्ष भूगोल विभाग नागरिक पी.जी. काॅलेज जंघई जौनपुर.
*Corresponding Author

Published In:   Volume - 8,      Issue - 3,     Year - 2020


ABSTRACT:
प्राकृतिक संसाधनों में भूमि महत्वपूर्ण संसाधन है। इसी भूमि पर संपूर्ण संसाधनों का विस्तार हुआ है। अध्ययन क्षेत्र जनपद जौनपुर, मुख्यतः समतल मैदानी क्षेत्र होनें के कारण भूमि की उपयोगिता का महत्व अधिक है। यहाँ के लोगों की आर्थिक प्रगति सामान्यतः भूमि उपयोगिता एवं विकास पर निर्भर है। भूमि का भविष्य में अधिकतम उपयोग कर क्षेत्र की आर्थिक स्थिति को और भी विकसित किया जा सकता है। चूँकि भूमि की पूर्ति लगभग निष्चित है तथा जनसंख्या का भार दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। अतः इसके अनुकूलतम उपयोग की आवश्यकता है। क्षेत्र में खनिज संसाधनों और पर्याप्त पूँजी का आभाव है जिसके कारण क्षेत्र का समन्वित विकास कृषि में सुधार के माध्यम से ही किया जा सकता है। भूमि उपयोग के विभिन्न पक्षों का समुचित क्षेत्रीय विष्लेषण करके नियोजन की ऐसी रूप रेखा प्रस्तुत की जाए जिससे प्रति इकाई भूमि से अधिकतम लाभ प्राप्त हो सके एवं तीव्र गति से बढ़ती जनसंख्या का भरण-पोषण संभव हो सके। इसी उद्देश्य से प्रस्तुत शोध पत्र में भूमि उपयोग प्रतिरूप का अध्ययन किया गया है। जिसके लिए द्वितीयक एवं तृतीयक स्रोतों से प्राप्त आँकड़ो का प्रयोग किया गया है। तथ्यों को स्पष्ट करनें के लिए जिला सांख्यिकीय पत्रिका व क्षेत्र के भौतिक और सांस्कृतिक मानचित्र का प्रयोग किया गया है।


Cite this article:
महीप चैरसिया, प्रमोद कुमार तिवारी. जनपद जौनपुर (उ0प्र0) में भूमि उपयोग प्रतिरूप का एक भौगोलिक अध्ययन. Int. J. Rev. and Res. Social Sci. 2020; 8(3):161-166.

Cite(Electronic):
महीप चैरसिया, प्रमोद कुमार तिवारी. जनपद जौनपुर (उ0प्र0) में भूमि उपयोग प्रतिरूप का एक भौगोलिक अध्ययन. Int. J. Rev. and Res. Social Sci. 2020; 8(3):161-166.   Available on: https://ijrrssonline.in/AbstractView.aspx?PID=2020-8-3-3


संदर्भ सूची:-
1ण्    कुमार, रतन 1999. भूमि उपयोग परिवर्तन एवं नवाचार, शोध प्रबनध वीर बहादुर सिंह पूर्वाचल विश्वविद्यालय, जौनपुर पेज नं 42-75.
2ण्    खुल्लर, डी. आर. 2015, भूगोल, मैक्ग्राहिल प्रकाषन, नई दिल्ली, पेज नं. 7.7-7.9
3ण्    गौतम, अलका, 2014. संसाधन एवं पर्यावरण, शारदा पुस्तक भवन, प्रयागराज, 230-238
4ण्    चैरसिया, महीप, 2018. सामाजिक-आर्थिक रूपांतरण एवं ग्रामीण विकासः जौनपुर जनपद का एक भौगोलिक अध्ययन, स्वीकृत शोध प्रस्ताव वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय, जौनपुर।
5ण्    जिला सांख्यिकीय पत्रिका जनपद जौनपुर
6ण्    तिवारी, आर.सी. और सिंह, बी.एन. 2014, कृषि भूगोल, प्रवालिका पब्लिकेशन, प्रयागराज, पेज नं. 38-69
7ण्    मौर्य, एस.डी. 2012. मानव एवं आर्थिक भूगोल, शारदा पुस्तक भवन, प्रयागराज, पेज नं. 486-491
8ण्    बर्णवाल, महेष, 2012. भूगोल एक समग्र अध्ययन, काॅसमाॅस प्रकाशन, वजीराबाद, दिल्ली पेज नं. 122-126
9ण्    जिला हथकरघा कार्यालय, जौनपुर
10ण्    जिला खादी एवं ग्रामोद्योग कार्यालय, जौनपुर
11.    Chandna, R.C. and Sidhu, M.S., 1980. Introducation to Population Geography, Kalyany Publication, New Delhi, P.59-62
12.    District Census hand Book Jaunpur (2018)
13.    Tiwari, P.K., 2019. NGJI-BHU, A Review of Rural development and Poverty Amelioration Programes in Niyamatabad Block, District Chanduali. P-2.
14.    World Bank Collection of development indicators (2020)

Recomonded Articles:

Author(s): बी.एन. पटेल, उमेश कुमार मिश्र

DOI:         Access: Open Access Read More

Author(s): महीप चैरसिया, प्रमोद कुमार तिवारी

DOI:         Access: Open Access Read More

Author(s): श्याम किषोर वर्मा प्रमोद कुमार तिवारी

DOI:         Access: Open Access Read More

International Journal of Reviews and Research in Social Sciences (IJRRSS) is an international, peer-reviewed journal, correspondence in....... Read more >>>

RNI:                      
DOI:  

Popular Articles


Recent Articles




Tags