Author(s): मधुलिका श्रीवास्तव, दिनेश कुमार

Email(s): Email ID Not Available

DOI: 10.52711/2454-2687.2023.00003   

Address: डॉ. मधुलिका श्रीवास्तव1, दिनेश कुमार2
1सह प्राध्यापक (समाजशास्त्र), शास. ठाकुर रणमत सिंह महाविद्यालय रीवा (म.प्र.)
2शोधार्थी (समाजशास्त्र), शास. ठाकुर रणमत सिंह महाविद्यालय रीवा (म.प्र.)
*Corresponding Author

Published In:   Volume - 11,      Issue - 1,     Year - 2023


ABSTRACT:
प्रस्तुत शोध पत्र में समाज में वृद्धों की समस्याओं की स्थिति को जानने का प्रयास किया गया है, जिसमें रीवा जिला के कुछ क्षेत्रांे को चुनकर समाज में वृद्धों की समस्याओं का अवलोकन किया गया है तथा 50 वृद्ध लोगों से साक्षात्कार के माध्यम से तथ्य एकत्रित किये गए हैं। भारत वर्ष में वृद्ध व्यक्तियों को आदर एवं सम्मान की दृष्टि से देखा जाता रहा है। सामान्यतः इन व्यक्तियों की आवश्यकताओं की पूर्ति एवं समस्याओं का समाधान भारतीय संयुक्त परिवार में होता रहा है; परन्तु औद्योगिकीकरण के परिणाम स्वरूप इस देश में संयुक्त परिवार का धीरे-धीरे विघटन हो रहा है तथा उसके स्थान पर एकल परिवार का वर्चस्व बढ़ रहा है। इसके साथ-साथ व्यक्तिवादी, भौतिकवादी एवं सुखवादी मूल्यों के बढ़ने के कारण वृद्धो की उपेक्षा की जाने लगी इसके अतिरिक्त कुछ वृद्ध निराश्रितता की समस्या से भी ग्रस्त होते जा रहें है। जिनमें आर्थिक समस्याओं स्वास्थ्य एवं चिकित्सकीय समस्याओं परिवारिक एवं भावनात्मक समस्याओं अवासीय समस्याओं इत्यादि का उल्लेख किया जा सकता है। सर्वेक्षण में शोधार्थी द्वारा उत्तरदाताओं से प्रश्न पूँछा गया जिसमें वृद्धों की समस्याओं के बारे में जानकारी प्राप्त की गई है। प्राप्त तथ्यों को वर्गीकृत व विश्लेषित कर निष्कर्ष प्रस्तुत किये गए है।


Cite this article:
मधुलिका श्रीवास्तव, दिनेश कुमार. वृद्धजनों की समस्या एवं परिवर्तनशील स्थिति (रीवा जिले के जवा तहसील के विशेष संदर्भ में). International Journal of Reviews and Research in Social Sciences. 2023; 11(1):17-3. doi: 10.52711/2454-2687.2023.00003

Cite(Electronic):
मधुलिका श्रीवास्तव, दिनेश कुमार. वृद्धजनों की समस्या एवं परिवर्तनशील स्थिति (रीवा जिले के जवा तहसील के विशेष संदर्भ में). International Journal of Reviews and Research in Social Sciences. 2023; 11(1):17-3. doi: 10.52711/2454-2687.2023.00003   Available on: https://ijrrssonline.in/AbstractView.aspx?PID=2023-11-1-3


संदर्भ सूची
1-    बंदनारानी द्वारा 1988 में बृहजन संस्थाएं तथा प्रथ्याक्षाएंः समाजशास्त्रीय परिप्रेरय में जनपद विजनौर
2-    सुमनरानी सिन्हा ने 2007 में वृद्धजनों का समाजशा़स्त्रीय अध्ययन इलाहाबाद के सेवानिवृत्त की समस्याओं पर
3-    डॉ. अंजु शुक्ला का शोध कार्य वृद्धाओं की समस्याएं एक समाजशास्त्रीय अध्ययन विलासपुर नगर
4-    सर इरूदया राजन मार्च 2010 ‘‘मोग्राफिग एजिंग एन्ड एम्प्लायमेन्ट इन इन्डिया‘‘
5-    प्रो. महेश शुक्ल वैज्ञानिक अंक 22 गौरव प्रकाशन ‘‘ग्रामीण वृद्धों की चुनौतियॉं‘‘ भारतीय समाज विज्ञान परिषद
6-    डॉ. मुकर्जी आर.के. (1995) सामाजिक सर्वेक्षण एवं शोध प्रकाशनः धीरज बुक्स 355, गॉधी मार्ग मेरठ, पृ. 101
7-    मित्र, प्रताप नारायण: वृद्ध निबंध संकलित पाठ्य पुस्तक, साहित्य भारती, भाग-2
8-    श्रीवास्तव, कृष्ण मोहन: पौराणिक मिथको में वृद्ध (आलेख) वैदिक नवस्वदेश अवकाश अंक 10 दिसम्बर 2005
9-    सिद्दीकी सिराजुद्दीन: आपकी सेवा निवृत्ति उपलब्धि, प्रकाशन भारत पेंशनल समाज रीवा 1980
10-  त्रिपाठी, विधि: सार्थक एवं आनन्दमय वृद्धावस्था के रहस्य भारतीय परिदृश्य में एक अध्ययन, कौटिल्य वर्ष 2 अंक षष्ठम्
11-  चौरासिया, अनीता: ग्रामीण वृद्धों की समस्यायें, चोरगड़ी जिला रीवा विशेष सन्दर्भ में विन्ध्ययन रिचर्स जर्नल 2015.
12-  डॉ. मदन जी.आर. (1970) समाज कार्य प्रकाशकरू विवेक प्रकाशक जवाहर  नगर, दिल्ली, पृ. 45
13-  डॉ. बघेल डी.एस. (1997) सामाजिक अनुसंधान, गायत्री पब्लिककेशन पू.15
14-  डॉ. मुकर्जी आर. के. (1995) सामाजिक सर्वेक्षण एवं शोध प्रकाशकः धीरज धुक्स 355, गाँधी मार्ग मेरठ, पृ. 101
15 डॉ. अखिलेश एस. परिवार कल्याण गायत्री पब्लिकेशन रीवा (म.प्र.), पृ.19 16. स्मारिका प्रान्तीय सम्मेलन: भारत पेंशनर समाज रीवा 1990-91
17- शर्मा के.एल. ¼1991½ "A  study of  students  stereo  types  towards  aging"  Indian Journal of Gerantology,              1 ¼1 o 2½ i`- 20&27 A

Recomonded Articles:

Author(s): Madhulika Agrawal, Noopur Agrawal

DOI:         Access: Open Access Read More

Author(s): रमेश प्रसाद द्विवेदी

DOI:         Access: Open Access Read More

Author(s): खोमन लाल साहू

DOI:         Access: Open Access Read More

Author(s): बी.एन. पटेल, उमेश कुमार मिश्र

DOI:         Access: Open Access Read More

Author(s): Vrinda Sengupta

DOI:         Access: Open Access Read More

Author(s): प्रज्ञा त्रिवेदी, आभा तिवारी

DOI:         Access: Open Access Read More

Author(s): निहारिका सोनकर, प्रमोद कुमार तिवारी

DOI:         Access: Open Access Read More

International Journal of Reviews and Research in Social Sciences (IJRRSS) is an international, peer-reviewed journal, correspondence in....... Read more >>>

RNI:                      
DOI:  

Popular Articles


Recent Articles




Tags